Breaking Tube
Social Media

आज तक की सुपरस्टार अंजना ओम कश्यप पर भारी पड़ा TV9 भारतवर्ष का युवा पत्रकार

Anjana om kashyap

बिहार में चमकी बुखार से मासूम बच्चों की मौत का आंकड़ा अब तक 140 के पास पहुंच गया है। मंगलवार को आज तक चैनल की एंकर अंजना ओम कश्यप (Anjana om kashyap) ने एसकेएमसी अस्पताल के आईसीयू वॉर्ड में घुसकर लाइव कैमरे पर डॉक्टर से बच्चों की मौत और उनके इलाज पर तीखे सवाल पूछे। इस दौरान अस्पताल के स्टॉफ के साथ उनकी बहस भी हुई। अंजना ओम कश्यप की इस रिपोर्टिंग पर सोशल मीडिया के एक धड़े ने जबरदस्त तरीके से नाराजगी जताई है। इन लोगों का कहना था कि अंजना ओम कश्यप जबरदस्ती डॉक्टरों के काम में बाधा बन रही थीं। साथ ही आईसीयू में उनकी मौजदूगी को भी गलत बताया जा रहा है।


मीडिया का बड़ा वर्ग कर रहा अंजना ओम कश्यप की आलोचना

अंजना ओम कश्यप की आलोचना में आम लोग ही नहीं मीडिया का एक बड़ा वर्ग भी खड़ा हो गया है। जिस तरह से अंजना ओम कश्यप (Anjana om kashyap) ने डॉक्टर और अस्पताल के स्टॉफ से बहसबाजी की, ये लोग उसकी जमकर आलोचना कर रहे हैं। एनडीटीवी की एंकर कादंबिनी शर्मा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि आईसीयू में जाकर नौटंकी एंकरिंग करने से, डॉक्टरों पर चिल्लाने से अगर बच्चे ठीक हो जाते तो यही दवाई लिखी जाती। ऐसी रिपोर्टिंग ग़लत और घटिया है।


वहीं, वरिष्ठ पत्रकार मृणाल पांडे ने अंजना ओम कश्यप की आलोचना करते हुए लिखा कि हे हेकलिंग की कली, हे अटेंडे/प्रोपोगैंडे की प्रथम लेडी, अब बस भी करीं। सचमुच के शोक से उपजीऔर शौक़िया ‘शौक’ देनेवाली पत्रकारिता में अंतर होता है। उधर, ऑल्ट न्यूज के को-फाउंडर प्रतीक सिन्हा ने लिखा कि देखिए आजतक की पत्रकारिता, डॉक्टरों और नर्सों की बात को काटते हुए अस्पताल के भीतर शोर मचा रही हैं…अगर इस अक्रामकता का 100वां हिस्सा भी अंजना ओम कश्यप नेताओं से सवाल करने में दिखाती तो यह सच में एक उपलब्धि होती।


टीवी9 भारतवर्ष के युवा रिपोर्टर की हो रही सराहना

वहीं, इस बीच टीवी9 भारतवर्ष के युवा रिपोर्टर रुपेश कुमार की रिपोर्टिंग की सोशल मीडिया पर जमकर सराहना की जा रही है। रिपोर्टर रुपेश कुमार भी रिपोर्टिंग करने एसकेएमसी अस्पताल पहुंचे, जहां एक दिन पहले अपनी रिपोर्टिंग के लिए अंजना ओम कश्यप को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था। टीवी9 भारतवर्ष के रिपोर्टर इसी अस्पताल के आईसीयू वॉर्ड के बाहर से रिपोर्टिंग करते नजर आए।


उस वक्त स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन अस्पताल के दौरे पर थे। रिपोर्टर रुपेश आईसीयू के वॉर्ड के बाहर खडे़ होकर रिपोर्टिंग करते हुए बताते हैं कि अंदर जाने की किसी को अनुमति नहीं है, खासकर मीडिया को। इस दौरान आईसीयू औषधि एवं स्त्री रोग विभाग का बोर्ड दिखाते हुए रिपोर्टर रुपेश कुमार एक वॉर्ड के अंदर जाते हैं, जिसके अंदर भाजपा के नेता जूता पहनकर बैठे होते हैं। हालांकि, इस वॉर्ड में किसी को भी जूता पहनकर अंदर जाने की अनुमति नहीं है, लेकिन बीजेपी नेता बेझिझक जूता पहने वहां बैठे नजर आते हैं।


Also Read: Video: मासूमों की मौत पर चीखता रहा रिपोर्टर, पर गाड़ी का शीशा बंद कर निकल गए सीएम नीतीश कुमार


रिपोर्टर रुपेश उनसे बातचीत करते हुए तीखे सवाल दागने शुरू करते हैं तो बीजेपी नेता पसीना-पसीना हो जाते हैं। रुपेश की रिपोर्टिंग की वजह से उन्हें भी जूता उतारने पर विवश होना पड़ जाता है। इस दौरान रिपोर्टर बीजेपी नेता से वहां उनकी मौजूदगी को लेकर कई सवाल करता है, जिसपर बीजेपी नेता सत्ता की हनक दिखाते हुए जवाब देते नजर आ रहे हैं।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अनुराग कश्यप की बेटी को मिली रेप की धमकी, PM मोदी से लगाई गुहार, बोले- सर बताइए आपके समर्थकों से कैसे निपटें…

S N Tiwari

Video: राष्ट्रवादी मुस्लिमों ने ही मस्जिद से पकड़ा आतंकवादी मुसलमान, देश भर ने सराहा

BT Bureau

इमरान खान की पार्टी ने किया हिंदी में ट्वीट, यूजर्स ने चुटकी लेते हुए कहा- ‘मंदिर वहीं बनाएंगे’

admin