Breaking Tube
  • Home
  • Social
  • बलिया: इस सरकारी विद्यालय में ‘भारत माता की जय, वंदेमातरम’ पर पाबंदी, मिलती है कड़ी सजा
Social

बलिया: इस सरकारी विद्यालय में ‘भारत माता की जय, वंदेमातरम’ पर पाबंदी, मिलती है कड़ी सजा

बलिया: देश में ‘भारत माता की जय’ बोलने को लेकर जारी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है ताजा मामला उत्तर प्रदेश के बलिया आ रहा है. जहां एक इंटर कॉलेज में ‘भारत माता की जय’ बोलने पर छात्रों को कठोर सजा दी जाती है. यहां प्रार्थना के बाद ‘भारत माता की जय’ बोलने पर सजा दी जाती है. यहां तक कि छात्रों को मुर्गा तक बना दिया जाता है. ये मामला गाँधी मोहम्मद अली मेमोरियल इंटर कॉलेज (जीएमएएम) इंटर कॉलेज का है. बता दें यह एक सरकारी विद्यालय है.

 

यहां सुबह की प्रार्थना के समय बच्‍चों द्वारा ‘भारत माता की जय’ बोलने पर लगभग प्रतिबंध सा लगा हुआ है. इसकी भनक वहां की सामाजिक संस्‍था मानस मंदिर के कमेटी प्रबंधक शिव कुमार जायसवाल को लगी. इस पर वह स्‍कूल पहुंचे. वहां उन्‍होंने बच्‍चों से इस बारे में पूछा तो मामला प्रकाश में आया. शिव कुमार जयसवाल ने विद्यालय की शिकायत करते हुए मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखी है.

 

मुस्लिम शिक्षक अधिक इसीलिए देशभक्ति पर पाबंदी 

इसके बाद इस घटना पर स्‍कूल के ही अर्थशास्‍त्र के शिक्षक संजय पांडेय ने मुहर लगाई. उन्‍होंने बताया कि पहले भी कई बार इस स्‍कूल के बच्‍चों को स्‍कूल में देशभक्ति जताने पर कड़ी सजा दी जा चुकी है. उन्‍होंने इसके पीछे वजह बताई कि इस स्‍कूल में मुस्लिम शिक्षकों की संख्‍या अधिक है. उनका कहना है कि इस वजह से ऐसा हो रहा है.

 

स्‍कूल के प्रिंसिपल माजिद नसीर के साथ शिव कुमार जायसवाल. फोटो ANI

 

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में शिक्षक संजय पांडेय ने बताया कि सूरज नाम के लड़के को ‘वन्दे मातरम’ बोलने पर अध्यापक जावेद अख्तर ने धूप में खड़ा करके मुर्गा बनाया था. उन्‍होंने आरोप लगाया कि स्‍कूल में ऐसा पिछले कई महीनों से चल रहा है. इस स्‍कूल में अधिक मुस्लिम शिक्षकों के होने के कारण बच्‍चों को देशभक्ति से संबंधित नारे लगाने से रोका जाता है.

 

Also Read: विवेक तिवारी हत्याकांड: एटा के निलंबित सिपाही ने SSP को सौंपा इस्तीफा, निलंबन को बताया ‘मीठा जहर’

 

वहीं स्‍कूल के प्रिंसिपल माजिद नसीर ने इन आरोपों को बेबुनियाद ठहराया है. उनका कहना है कि उनके स्‍कूल में बच्‍चों के अंदर हमेशा ही देशभक्ति का भावना को फैलाया जाता है मैंने अभी तक इस संबंध में कुछ भी नहीं सुना है.

 

Also Read: मायावती और अखिलेश को तगड़ा झटका, शिवपाल के मोर्चा से जुड़ने की तैयारी में ये कद्दावर नेता

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

आरक्षण नहीं बल्कि इस पर हो रही राजनीति समस्या है: मोहन भागवत

Rajiv Tiwari

जानें 14 सितंबर को क्यों मनाया जाता है ‘हिंदी दिवस’, विश्व इतिहास में क्यों है आज का दिन खास

BT Bureau

स्वतंत्रता दिवस पर हादसा, आजादी का जश्न मनाने जा रहे 15 बच्चे घायल

Aviral Srivastava

Leave a Comment