Breaking Tube
  • Home
  • Social
  • वाराणसी में टूट रहे ‘मकान’ निकल रहे ‘भगवान’, मिला ऐसा मंदिर लोग देखकर हुए हैरान
Social

वाराणसी में टूट रहे ‘मकान’ निकल रहे ‘भगवान’, मिला ऐसा मंदिर लोग देखकर हुए हैरान

Varanasi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर का काम जोरों-शोरो से चल रहा है। ऐसे में मकानों के ध्वस्तीकरण का काम तेज कर दिया गया है। लेकिन मकानों के ध्वस्तीकरण के दौरान चौंका देने वाली तस्वीरें सामने आ रही हैं। ध्वस्तीकरण के दौरान घरों के भीतर से प्राचीन मंदिर निकल सामने आ रहे हैं। सबसे खास बात ये है कि यहां के एक घर से ऐसा मंदिर सामने आया है जो काशी विश्वनाथ मंदिर के जैसा है।

 

प्रशासन ने खरीदे 182 मकान, तोड़े जा चुके 40 घर

मिली जानकारी के मुताबिक, काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर के लिए प्रशासन ने 182 भवनों को खरीदकर उन्हें ध्वस्त करने का काम शुरू कर दिया है, जिसमें से 40 मकानों को ध्वस्त किया जा चुका है। बता दें कि अब तक ध्वस्त किए गए मकानों से 43 छोटे-बड़े प्राचीन मंदिर मिले हैं।

 

Also Read : यूपी: भाजपा प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी के प्रयासों से आजादी के बाद इस गांव में आई पहली बार बिजली

खास बात ये है कि इनमें से एक मंदिर ऐसा मिला है जो काशी निश्वनाथ मंदिर के जैसा ही है। बताया जा रहा है ये मंदिर काशी विश्वनाथ मंदिर जैसी ही वास्तुकला से निर्मित किया गया है। सूत्रों का कहना है कि इस मंदिर में नंदी का आकार काशी विश्वनाथ मंदिर के नंदी से बड़ा है और मंदिर के नीचे की ओर रथ बना हुआ है। यही नहीं, मंदिरों के खंभों पर कीचक भी बने हुए हैं।

 

Also Read: मेरठ: 25 हजार के इनामी गोतस्कर और समाजवादी नेता ‘हाजी आरिफ’ का ‘तमंचे पर डिस्को’ Video वायरल

 

मंदिरों की प्राचीनता का पता लगाया जा रहा

इस मामले में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के नीरज सिन्हा ने बताया कि इन मंदिरों की प्राचीनता का पता लगाने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि ये मंदिर लगभग 18वीं या 19वीं शताब्दी के हो सकते हैं, कुछ मंदिरों को देखकर लग रहा है कि वो लगभग हजार साल पुराने हैं।

 

Also Read : बहराइच से सांसद सावित्री बाई फुले ने BJP छोड़ी, प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफ़ा

 

उन्होंने कहा कि कोरिडोर निर्माण के समय इन मंदिरों का जीर्णोद्धार कराया जाएगा और मंदिरों के बाहर शिलापट्ट पर इतिहास लिखा जाएगा। उनका कहना है कि फिलहाल ध्वस्तीकरण के काम के दौरान इनकी प्राचीनता पता करने में दिक्कत आ रही है।

 

600 करोड़ की लागत से बना रहा कोरिडोर

बता दें कि काशी विश्वनाथ मंदिर में श्रद्धालुओं की सहूलियत के लिए पीएम मोदी की महत्वाकांक्षी योजना में काशी विश्वनाथ मंदिर कोरिडोर को विकसित करने का काम चल रहा है। जानकारी के मुताबिक, इसके लिए 269 इमारतों की पहचान की जा चुकी है, जिनका अधिग्रहण कर ध्वस्तीकरण किया जाना है। पीएम मोदी की इस परियोजना के लिए सीएम योगी ने 600 करोड़ रुपए की मंजूरी दी है।

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

रमज़ान, ईद के बाद अब बकरीद की तारीख को लेकर भी असमंजस में मुसलमान

Aviral Srivastava

यूपी: अपने ही जवान को दरकिनार कर रहा पुलिस विभाग, कोमा में है सिपाही और इलाज के पैसे नहीं, परिवार का रो-रोकर बुरा हाल

Jitendra Nishad

हनुमान मंदिरों पर दलित करें कब्जा, हथिया लें दानपात्र की राशि: चंद्रशेखर

Jitendra Nishad

Leave a Comment