Sports

ICC प्रमुख ने कहा, विश्व कप में भारत-पाकिस्तान मुकाबले को कोई खतरा नहीं

पुलवामा आतंकी हमले के बाद विश्व कप में भारत-पाकिस्तान के बीच खेले जाने वाले मैच को लेकर तरह-तरह की बातें हो रही है. कुछ क्रिकेटर्स का कहना है की भारत को विश्व कप में पाकिस्तान के साथ मैच नहीं खेलना चाहिए. इन सभी अटकलों पर विराम लगते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद यानी आईसीसी के सीईओ डेव रिचर्डसन ने कहा है कि विश्व कप में भारत और पाकिस्तान का मुकाबला होगा. सुरक्षा के लिहाज से उठ रहे सवालों पर रिचर्डसन ने कहा कि हम इस मुकाबले के लिए पूरी तरह तैयार हैं. बता दें कि दोनों टीमें आईसीसी अनुबंध से बंधी हैं ऐसे में कोई भी टीम मैच खेलने से इंकार नहीं कर सकती.



उन्होंने कहा, ‘आईसीसी टूर्नामेंटों के लिये सभी टीमों ने सदस्यों के भागीदारी करार पर हस्ताक्षर किए हैं जिसके तहत उन्हें टूर्नामेंट के सभी मैच खेलने होंगे. यदि वे ऐसा नहीं करते हैं तो खेलने की शर्तों के अनुसार दूसरी टीम को अंक दिए जाएंगे. पुलवामा में आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद ऐसी मांग की जा रही है कि भारत 16 जून को मैनचेस्टर में पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप का मैच नहीं खेले.


COA ने लिखा था ICC को पत्र


पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय क्रिकेट का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति ने COA ने आईसीसी को पत्र लिखकर मांग की थी कि आतंकवाद को पनाह देने वाले देशों का बहिष्कार किया जाए. जिसके बाद जवाब में ICC ने साफ़ किया कि विश्व कप में इन दोनों का मुकाबला तय है और इस मुकाबले को सफल करने के लिए वो हर संभव प्रयाश करेगी.


Also Read: विराट कोहली बोले- वर्ल्ड कप चार साल में तो IPL होता है हर साल, खिलाड़ी खुद तय करें उन्हें…


भारतीय के कैप पर उठे थे सवाल


गौरतलब है कि हालही में भारतीय टीम ने पुलवामा के शहीदों को श्रृद्धांजलि देने के लिए रांची में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे वनडे सेना की विशेष कैप पहनकर मैदान पर उतरी थी. भारतीय टीम के इस कदम की आलोचना करते हुए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पीसीबी ने आईसीसी को पत्र लिखकर भारत पर खेल के राजनीतिकरण का आरोप लगाया था. ICC ने इसके जवाब में कहा था कि भारतीय बोर्ड ने इसकी पहले ही अनुमति ले ली थी और इसके पीछे कोई राजनीति नहीं थी. भारतीय टीम ने इस मैच की पूरी फ़ीस राष्ट्रीय रक्षा कोष में दे दी थी.


Also Read: टीम में जगह नहीं मिली तो छलका अश्विन का दर्द, बोले- मुझे टीम की जरूरत के कारण बाहर किया गया


रिचर्डसन ने कहा, ‘वह एक मामले में अनुमति दी गई थी क्योंकि उसका मकसद उन जवानों के परिवारों के लिए धन एकत्र करना था. आईसीसी खेलों को राजनीति से अलग रखती आई है.’ भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट की बहाली में आईसीसी की भूमिका के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि यह दोनों बोर्ड पर निर्भर करता है.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

173 total views, 1 views today

Related news

Video: चहल ने विराट से पूछा कि क्या आपने कभी सोचा था कि आप ‘चहल टीवी’ पर आएंगे

BT Bureau

विराट और अनुष्का दोबारा नज़र आए शादी के शानदार जोड़े में, वजह सुन रह जाएंगे हैरान

Satya Prakash

World Cup 19 के बाद वनडे क्रिकेट को अलविदा कह देंगे इमरान ताहिर

Shivam Jaiswal

Leave a Comment